राज्य में 8000 शिल्पियों का डाटाबेस तैयार कर
रोजगार से जोड़ने की कार्ययोजना

रायपुर, 06 नवम्बर 2020

ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रुद्रकुमार के मार्गदर्शन में छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड शिल्पकारों के सपनों को साकार कर रहा है। मंत्री गुरु रुद्रकुमार ने कहा कि हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा 8000 शिल्पियों का डाटा बेस तैयार कर उन्हें रोजगार मूलक कार्यक्रमों से जोड़ने कार्य योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचल के शिल्पकारों को रोजगार से जोड़कर राज्य के ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने की अनवरत कोशिश की जा रही है।
ग्रामोद्योग संचालक श्री सुधाकर खलखो ने बताया कि छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प विकास बोर्ड ने बीते 2 वर्षों में आज करोड़ों रुपए के हस्तशिल्प सामग्री का विक्रय किया है। उन्होंने बताया कि विकास योजनांतर्गत बोर्ड द्वारा 88 लाख रुपए आवंटित कर 519 शिल्पियों को लाभान्वित करने के साथ ही 171 हस्तशिल्पियों को औजार उपकरण एवं 05 शिल्पियों को कर्मशाला निर्माण हेतु अनुदान प्रदान किया गया। श्री खलखो ने बताया कि बीते दो वर्ष की इस अवधि में प्रशिक्षण अनुदान योजना अंतर्गत बोर्ड के समस्त केंद्रों के माध्यम से 98.33 लाख रुपए का व्यय करते हुए विभिन्न शिल्पकला से जुड़े 1168 हितग्राहियों को प्रशिक्षित किया गया। उन्होंने बताया कि शिल्पी डिजाइन शिक्षा योजनांतर्गत अब तक 7 छात्रों की फीस का भुगतान किया गया है और वनवासियों द्वारा उत्पादित हस्तशिल्प सामग्रियों को देश-विदेश तक पहुंचाने और बेहतर बाजार उपलब्ध कराने के लिए ट्राइफेड के साथ एमओयू किया गया है जिसके माध्यम से वनवासी शिल्पकारों की सामग्रियों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराया गया है।

क्रमांक: 4951/चन्द्रवंशी

Source: http://dprcg.gov.in/