गौठानों में 25 से 50  वर्मीटांका बनाने के निर्देश

उत्तर बस्तर कांकेर 27 अक्टूबर 2020

कलेक्टर श्री के.एल. चौहान ने आज समय-सीमा की बैठक में जिले में संचालित विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा किया। लोकस्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि आगामी जनवरी माह से कांकेर शहर वासियों को आर्वधन जल प्रदाय योजना से पेयजल उपलब्ध कराने का लक्ष्य बनाकर कार्य करें। पेयजल टंकियों की टेस्ंिटग का कार्य सहित अन्य सभी कार्यों को पूरा कर लिया जावे। शहरी क्षेत्रों के वन भूमि में घर बने होनेे पर संबंधित व्यक्तियों को वन अधिकार मान्यता पत्र प्रदान करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने हेतु नगरीय निकाय के अधिकारी और एसडीएम को कलेक्टर द्वारा निर्देशित किया गया है। व्यक्तिगत वन अधिकार मान्यता पत्र प्राप्त हितग्राहियों को मनरेगा अंतर्गत 200 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश भी उनके द्वारा दिये गये। उन्होंने कांकेर शहर में निर्माणाधाीन सीसी रोड़ के प्रगति की भी समीक्षा किया। इस अवसर पर बताया गया कि कांकेर शहर के विभिन्न स्थानों में सीसी टीव्ही कैमरा लगाया जायेगा जिसका कंट्रोल पुलिस के पास रहेगा।
कलेक्टर श्री चौहान ने गोधन न्याय योजना की भी समीक्षा की तथा गौठान को बहुउद््देशीय गतिविधि केन्द्र एवं ग्रामीण उद्योग केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिए जनपद सीईओ को निर्देशित किया। गौठान में गोबर की आवक को देखते हुए पर्याप्त संख्या में वर्मीटांका का निर्माण करने तथा कार्यरत महिला स्व-सहायता समूहों का पंजीयन करने के निर्देश भी दिये गये। वर्मीकंपोस्ट बनाने के विभिन्न चरणों के संबंध में भी अधिकारियों को विस्तार से जानकारी दी तथा कहा कि वर्मीकंपोस्ट बनने के बाद उसकी पैकिंग के लिए पैकेट हेतु मांगपत्र पर्याप्त समय पहले जिला पंचायत को प्रेषित किया जावे तथा वर्मीकांपोस्ट का पैकिंग होने के बाद उसे रखने के लिए गौठान में गोदाम का निर्माण किया जावे। वर्मीकंपोस्ट का विक्रय लैम्पस के माध्यम से किया जावेगा, जिनके द्वारा निर्धारित शुल्क जमा करने पर रसीद दी जायेगी और उस रसीद को दिखा कर हितग्राही को गौठान से वर्मीकंपोस्ट का उठाव करना होगा। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए अभी से तैयारी करने के निर्देश भी उनके द्वारा दिये गये हैं। बैठक में आगामी 31 अक्टूबर को विधिक सेवा प्राधिकरण के तहत ई-मेगा कैम्प आयोजित करने के संबंध में भी चर्चा की गई तथा आवश्यक तैयारी करने के निर्देश दिये गये। महिला एवं बाल विकास विभाग अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्रों मंे कार्यकर्ता एवं सहायिका के रिक्त पदों पर यथाशीघ्र भर्ती करने के लिए जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। समय सीमा से संबंधित पत्रों एवं जन शिकायत और लोक सेवा गांरटी अधिनियम से संबंधित पत्रों का शीघ्र निराकरण करने तथा आकांक्षी जिला एवं डीएफएम के अंतर्गत विकास कार्याें के लिए कार्ययोजना प्रस्तुत करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। बैठक में वनमण्डाधिकारी कांकेर अरविंद पी.एम, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे, अपर कलेक्टर एसपी वैद्य सहित सभी जिला अधिकारी, एसडीएम, तहसीलदार एवं जनपद सीईओ उपस्थित थे।

क्रमांक/1319/ सुरेन्द्र ठाकुर

 

Source: http://dprcg.gov.in/