आपदा काल में निस्वार्थ भाव से भगवान का रूप बनकर स्वच्छता कर्मियों ने की लोगों की सेवा-श्री मरकाम

तीन सौ नगरपालिका कर्मियों का विधायक ने किया सम्मान

कोण्डागांव, 14 अक्टूबर 2020

विगत 13 अक्टूबर को विधायक श्री मोहन मरकाम ने नगरपालिका के कर्मियों के द्वारा कोरोना आपदा काल के समय निस्वार्थ भाव से नगर की स्वच्छता एवं उसकी व्यवस्था के निर्माण हेतु कोरोना वाॅरियर्स के रूप में किये गये कार्यों को याद करते हुए नगरपालिका के स्वच्छता कर्मियों, प्रशासनिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों का प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया। इस अवसर पर श्री मरकाम ने कोरोना संक्रमण एवं तालाबंदी के समय को याद करते हुए कहा कि ऐसा दौर जिस समय हर व्यक्ति अपने घर से निकलने में भी कतराता था ऐसे समय में नगर में स्वच्छता एवं पेयजल जैसी व्यस्थाओं को निर्बाध एवं सुचारू रूप से उपलब्ध कराने के लिए नगरपालिका के सभी कर्मचारी अपने जान को जोखिम में डाल कर एक योद्धा की भांति रोज घरो से निकलकर लोगों की सेवा में निस्वार्थ भाव से लगे रहते थे। चाहे वह क्वारेंटीन सेंटर हो या स्क्रीनिंग सेंटर घर हो या सड़क या दुकानें सभी जगह सेनेटाईजेशन, घरो से निकलने वाले कचरों के प्रबंधन में दिन-रात लगे रहते थे। सम्पूर्ण आपदा काल में स्वच्छताकर्मी भगवान का दूसरा रूप बनकर निस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा की है। इसके लिए सम्पूर्ण कोण्डागांव नगर आपका सदैव आभारी रहेगा।

इस अवसर पर पार्षद तरूण गोलछा ने कहा कि नगरपालिका ने आपदा काल में नगर के अतिरिक्त मानवता का प्रदर्शन करते हुए नगर की सीमा के बाहर भी जहां भी सेनेटाईजेशन एवं स्वच्छता की आवश्यकता थी वहां अपनी सेवाएं दी इसके लिए सम्पूर्ण नगरपालिका कर्मी साधूवाद के पात्र हैं।

उल्लेखनीय है कि इस दौरान कार्य करते हुए नगरपालिका के चार कर्मी कोरोना से संक्रमित भी हुए परन्तु उन्होंने हौसला रखते हुए निरंतर सेवाएं जारी रखीं। इस समारोह में विधायक द्वारा तीन सौ कर्मियों को सम्मानित किया जिसमें स्वच्छता दीदीयां, स्वच्छता कर्मी, पम्प आॅपरेटर, वाहन चालक, मेकेनीक, फिटर, नगरपालिका के प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारी सम्मिलित थे। इस अवसर पर झुमुक लाल देवांगन, मनीष श्रीवास्तव, राजू पोयाम एवं नगरपालिका सीएमओ सूरज सिदार सहित नगरपालिका के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

क्रमांक-559/गोपाल

Source: http://dprcg.gov.in/