समय सीमा की बैठक में

धमतरी 27 अक्टूबर 2020

कलेक्टर श्री जय प्रकाश मौर्य ने समय सीमा की बैठक में अधिकारियों को निर्देशित किया कि आगामी 31 अक्टूबर को आयोजित होने वाले ई-मेगा कैम्प के तहत जिन आवेदनों का निराकरण किया जाना है, उसकी सूची आज शाम तक अनिवार्य रूप से अपर कलेक्टर कार्यालय को उपलब्ध करा दें। इसके अलावा इस शिविर के जरिए लाभान्वित होने वाले हितग्राहियों के लिए प्रत्येक ब्लॉक में आवश्यक बैठक व्यवस्था कोविड 19 के मद्देनजर करने पर भी कलेक्टर ने जोर दिया। उन्होंने सुनिश्चित करने कहा है कि ई-मेगा कैम्प में सभी लोग अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर उपस्थित हों।
    गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के तहत शनिवार 31 अक्टूबर को पूरे राज्य सहित जिले में ई-मेगा कैम्प आयोजित किया जा रहा है। इसके जरिए विधिक सेवा तथा शासन की जनकल्याणकारी विभागीय योजनाओं से संबंधित आवेदनों का निराकरण किया जाएगा। शिविर का उद्घाटन छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश श्री पी.आर.रामचन्द्र मेनन तथा न्यायाधीश और कार्यपालिक अध्यक्ष राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण श्री प्रशांत कुमार मिश्र द्वारा वीडियो कॉन्फ्रंेसिंग के जरिए किया जाएगा। इसका सीधा प्रसारण जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के फेसबुक पेज में भी किया जाएगा। उद्घाटन सत्र के बाद जिला स्तर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री सुधीर कुमार, कलेक्टर श्री मौर्य, पुलिस अधीक्षक श्री बी.पी.राजभानू विभागीय कल्याणकारी योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए अपना वक्तव्य देंगे। साथ ही चारों ब्लॉक में स्वान के जरिए ई-मेगा शिविर से जुड़े हितग्राहियों को प्रतीकात्मक रूप से लाभान्वित किया जाएगा। बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि जिन विभागों के हितग्राहियों को शिविर के माध्यम से लाभान्वित किया जा रहा है, उनकी विभागीय योजनाओं के संबंध में संक्षिप्त जानकारी अधिकारी द्वारा इस दौरान दी जाएगी। इसके मद्देनजर उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां करने के निर्देश दिए हैं।
बैठक में कलेक्टर ने समय-सीमा के पत्रों की समीक्षा करते हुए उन्हें त्वरित गति से निराकृत करने के निर्देश दिए। इसके अलावा मुख्यमंत्री जनदर्शन, प्रभारी मंत्री कार्यालय तथा कलेक्टर जनचौपाल के लंबित आवेदनों को प्राथमिकता के साथ गुणवत्तापूर्वक निराकृत करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी तहसीलदारों को सुनिश्चित करने कहा है कि आगामी खरीफ सीजन में समर्थन मूल्य पर की जाने वाली धान खरीदी के लिए एक भी पात्र किसान का पंजीयन ना छूटे। इसके साथ ही सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायतों को निर्देशित किया कि कहीं भी गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी ना रूके, यह सुनिश्चित करें। बैठक में कलेक्टर ने वनमण्डलाधिकारी श्री अमिताभ बाजपेयी से हाथियों से फसल क्षति तथा जनहानि के प्रकरणों पर त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती नम्रता गांधी, अपर कलेक्टर श्री दिलीप अग्रवाल, जिला विधिक प्राधिकरण के सचिव श्री सतीश कुमार खाखा सहित जिला स्तरीय अन्य अधिकारी और वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ब्लॉक स्तर के अधिकारी उपस्थित रहे।                          

  क्रमांक-74/740/इस्मत

 

Source: http://dprcg.gov.in/