रायपुर 13 अक्टूबर 2020

राज्य शासन ने छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण एवं जीर्णोद्धार कार्य के लिए 22 करोड़ 88 लाख 55 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की है। इन परियोजनाओं के निर्माण एवं जीर्णोद्धार का कार्य पूर्ण होने के उपरांत 1825.86 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। 

जल संसाधन विभाग मंत्रालय, महानदी भवन द्वारा जारी आदेशानुसार दुर्ग जिले के विकासखण्ड पाटन की पाटन आई.बी. का पुनर्निर्माण व अहाता निर्माण हेतु 57 लाख रूपए और कुम्हली जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ 76 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी गयी है। कार्य की पूर्णता से 61 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन के सांतरा जलाशय के नहरों का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 12 लाख छह हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 207 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन के भरर जलाशय के वेस्ट वियर का जीर्णोद्धार एवं नहर का रिमाडलिंग एवं लाईनिंग कार्य के लिए दो करोड़ 73 लाख 62 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 171 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। पाटन के किकिरमेटा के समीप खारून नदी के क्षतिग्रस्त तट का मरम्मत कार्य के लिए दो करोड़ 62 लाख 47 हजार रूपए प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। विकासखण्ड दुर्ग के उरला डायवर्सन की नहर प्रणाली में संरचनाओं का निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ 26 लाख 4 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 119 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। दुर्ग के बोरई व्यपवर्तन का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 68 लाख तीन हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 135 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

विकासखण्ड धमधा के टेमरी स्टापडेम निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ 38 लाख 28 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 25 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। धमधा के गोरपा जलाशय जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग तथा सर्विस बैंक में सी.सी. रोड निर्माण कार्य के लिए एक करोड़ सात लाख 32 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 128 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। धमधा के रक्सा व्यपवर्तन जीर्णोद्धार एवं नहर लाइनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 11 लाख 36 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 40 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

रायपुर जिले के विकासखण्ड अभनपुर के कुर्रू जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 90 लाख नौ हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 181 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। अभनपुर के नायकबांधा जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ एक लाख 48 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 98 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। अभनपुर के पौंता जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 35 लाख 81 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 254 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। विकासखण्ड अभनपुर के गिरोला जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 31 लाख 80 हजार रूपए प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 143 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। अभनपुर के चेरिया जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 43 लाख 35 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 174 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। अभनपुर के गोतियारडीह जलाशय का जीर्णोद्धार एवं नहर लाईनिंग कार्य के लिए एक करोड़ 29 लाख आठ हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। योजना के पूरा होने से 87 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी।

क्रमांक- 4392/अंजू

Source: http://dprcg.gov.in/