रायपुर. 13 अक्टूबर 2020.

राज्य शासन के सहकारिता विभाग ने भोरमदेव शक्कर कारखाना में पीपीपी मॉडल पर इथेनॉल संयंत्र की स्थापना के लिए जारी आरएफपी निविदा में प्राप्त उच्चतम दर का अनुमोदन कर दिया है। सहकारिता विभाग ने सहकारी संस्थाओं के पंजीयक को इस बारे में पत्र लिखकर सूचित करते हुए कार्य के लिए चयनित छत्तीसगढ़ डिस्टलरीज लिमिटेड को अनुषांगिक कार्यवाहियां पूर्ण कर इसकी प्रगति से विभाग को अवगत कराने के लिए निर्देशित किया है।

सहकारिता विभाग ने पंजीयक, सहकारी संस्थाएं को लिखे पत्र में जानकारी दी है कि भोरमदेव सहकारी शक्कर उत्पादक कारखाना मर्यादित कवर्धा परिसर में न्यूनतम 40 के.एल.पी.डी. क्षमता के इथेनॉल संयंत्र की स्थापना पीपीपी मोड पर किए जाने के लिए 3 सितम्बर 2020 को हुई पी.पी.ए.सी. की बैठक में अंतिम अनुमोदन किया गया है। संस्था द्वारा ऑनलाइन निविदा के माध्यम से निवेशक का चयन करते हुए छत्तीसगढ़ डिस्टलरीज लिमिटेड द्वारा प्रस्तुत प्रति इकाई दर पांच करोड़ 27 लाख रूपए की उच्चतम दर को ग्राह्य करने की अनुशंसा करते हुए अनुमोदन के लिए पत्र प्रेषित किया गया है।

सहकारिता विभाग ने पंजीयक, सहकारी संस्थाएं को पत्र के माध्यम से भोरमदेव सहकारी शक्कर उत्पादक कारखाना में पीपीपी मॉडल से इथेनॉल संयंत्र की स्थापना के लिए आमंत्रित निविदा में छत्तीसगढ़ डिस्टलरीज लिमिटेड द्वारा प्रस्तुत प्रति इकाई प्रतिवर्ष दर पांच करोड़ 27 लाख रूपए की उच्चतम दर को ग्राह्य करने संबंधी संस्था के प्रस्ताव के अनुमोदन की जानकारी दी है। साथ ही विभाग ने संस्था को अनुषांगिक कार्यवाहियां पूर्ण कर इसकी प्रगति से अवगत कराने के लिए निर्देशित किया है।

भोरमदेव शक्कर कारखाना में पीपीपी मोड पर इथेनॉल संयंत्र की स्थापना के लिए इसमें भागीदारी की इच्छुक कंपनियों को आमंत्रित करने राष्ट्रीय स्तर पर निविदा जारी की गई थी। दो स्तरों पर जारी इस निविदा के प्रारंभिक चरण में 28 कंपनियों के और अंतिम चरण में चार कंपनियों के प्रस्ताव प्राप्त हुए थे।

क्रमांक-4399/कमलेश

Source: http://dprcg.gov.in/