गुरजीत कौर द्वारा भारतीय महिला हॉकी टीम को ओलिंपिक के पहले सेमीफाइनल में पहुंचाने के बाद क्रिकेट बिरादरी फूटी

गुरजीत कौर द्वारा भारतीय महिला हॉकी टीम को ओलिंपिक के पहले सेमीफाइनल में पहुंचाने के बाद क्रिकेट बिरादरी फूटी

भारतीय महिला हॉकी टीम। (फोटो स्रोत: ट्विटर)

2008 में वापस, भारतीय हॉकी अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रही थी। सैंटियागो में विश्व हॉकी क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में पुरुषों की टीम ग्रेट ब्रिटेन से 2-0 से हार गई। हार का मतलब था कि भारत बीजिंग ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने में विफल रहा। यह पहला मौका था जब आठ बार के स्वर्ण पदक विजेता 1928 में पदार्पण के बाद मेगा इवेंट में जगह नहीं बना सके।

दूसरी ओर, महिला टीम ओलंपिक के लिए भी दावेदारी में नहीं थी। 1980 के ओलंपिक में भारत की पुरुष टीम के स्वर्ण पदक जीतने के बाद, चीजें काफी हद तक नीचे चली गई थीं। 14 साल बाद, परिदृश्य बिल्कुल वैसा नहीं है। पुरुष और महिला दोनों हॉकी टीमों ने अपने वजन से ऊपर मुक्का मारकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है।

रविवार, 1 अगस्त को, मनप्रीत सिंह एंड कंपनी ने ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराकर 49 साल में अपने पहले सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। सोमवार, 2 अगस्त को, महिला टीम राख से फीनिक्स की तरह उठी और ओलंपिक के इतिहास में अपने पहले सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। रानी रामपाल की टुकड़ियों ने विपरीत परिस्थितियों के बावजूद ग्रुप बी में टेबल-टॉपर्स ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हराया।

गुरजीत ने 22वें मिनट में किया गोल

ऑस्ट्रेलिया ने आसानी से स्पेन, अर्जेंटीना, न्यूजीलैंड, चीन और जापान को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। लेकिन जीत के खेल में, वे भारत के लचीलेपन को नहीं तोड़ सके। ड्रैग फ्लिकर गुरजीत कौर ने भारत के एकमात्र पेनल्टी कार्नर को 22वें मिनट में बदल कर अपनी टीम को जरूरी बढ़त दिला दी। तीसरे और चौथे क्वार्टर में भारत ने संभलकर खेला।

यह भी पढ़ें:   'लंबे समय तक चले गए' - इरफान पठान की प्रतिक्रिया के बाद एक प्रशंसक ने 2012 के बाद भारत के लिए ऑलराउंडर नहीं खेला

खेल में आकर, भारत को एक खरगोश को टोपी से बाहर निकालने की जरूरत थी क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई विश्व नंबर 2 थे। रामपाल की महिलाओं ने दबाव में टूटने के बजाय स्टील की नसें दिखाईं। बुधवार, 4 अगस्त को सेमीफाइनल में भारत का सामना बेल्जियम से होना है। हॉकी टीमों का प्रदर्शन शटलर पीवी सिंधु द्वारा टोक्यो ओलंपिक में भारत को अपना दूसरा पदक दिलाने के बाद आया है।

इस दौरान क्रिकेट जगत ने भारतीय महिला हॉकी टीम को सेमीफाइनल में जगह बनाने पर बधाई दी। इशांत शर्मा, वसीम जाफर से, आरपी सिंह और कई अन्य, क्रिकेट जगत के कई प्रमुख नामों ने, वीमेन इन ब्लू की उनके प्रदर्शन के लिए सराहना की।

भारत की जीत पर क्रिकेटरों की प्रतिक्रिया इस प्रकार है

भारतीय महिला हॉकी टीम की जय! 🙌🏼🇮🇳#भारतीय महिला हॉकी #ओलंपिक२०२१ pic.twitter.com/PT7Bc4XHnZ

– तुषार देशपंडे (@ तुषारडी_96) 2 अगस्त 2021

क्या शानदार जीत है !! 👏

NS #भारत महिलाएं #हॉकी टीम ने पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई है।

हमारे देश की महिलाओं द्वारा खेला गया एक अविश्वसनीय और शक्तिशाली मैच, हमें आप पर गर्व है! 💪

जाने के लिए रास्ता!! जय हिंद!🇮🇳 #टोक्यो2020 #इंडियनहॉकी #ओलंपिक pic.twitter.com/Cd2wTK3w6s

यह भी पढ़ें:   तीसरे क्रिकेटर के इंग्लैंड श्रृंखला से बाहर होने के बाद बीसीसीआई ने प्रतिस्थापन की तैयारी की

– इशांत शर्मा (@ImIshant) 2 अगस्त 2021

चक दे ​​इंडिया #हॉकी #टोक्यो ओलिंपिक2020

– मनदीप सिंह (@ mandeeps12) 2 अगस्त 2021

ऑस्ट्रेलियाई टीम पर दिखाया गया सरासर प्रभुत्व, वर्ग, कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प है @TheHockeyIndia महिला टीम कक्षा 2 बार के ओलंपिक चैंपियन से बाहर हो गई और मैदान के सेमीफाइनल में पहुंच गई #ओलंपिक 2020 ##रुक्ना नहीं है #नेतृत्व #हॉकीइंडिया #नारी शक्ति #चकदेइंडिया pic.twitter.com/7qIjPw0y3m

– सिद्धार्थ कौल (@iamsidkaul) 2 अगस्त 2021

हमारी लड़कियों का भला हुआ, उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और भारत को बधाई, शुभकामनाएं https://t.co/BddvYlofME

– डेविड वार्नर (@ davidwarner31) 2 अगस्त 2021

जननी जन्मपत्री स्वर्गदपि गैरीसी।
हमारी लड़कियों ने हमें सबसे बड़े खेल आयोजन में जो गौरव दिया है और हमें इतनी खुशियों से भर दिया है वह अविश्वसनीय है।
मीराबाई, लवलीना, सिंधु के बाद अब #हॉकी टीम ने हमें बहुत गौरवान्वित किया है।
डिकस थ्रो फाइनल में कमलप्रीत का इंतजार pic.twitter.com/vHUCe5fvRd

– वेंकटेश प्रसाद (@venkateshprasad) 2 अगस्त 2021

हमारी महिला हॉकी टीम का अविश्वसनीय प्रयास, खेल के अंतिम क्वार्टर तक इतना तनावपूर्ण कभी नहीं था। बहुत गर्व है लड़कियों पर। बधाई #INDvsAUS #हॉकीइंडिया pic.twitter.com/1o5llvojmB

– मनोज तिवारी (@tiwarymanoj) 2 अगस्त 2021

इतनी खुशी शायद किसी जीत पर महसूस हुई होगी!
बिल्कुल वाह पल। हमारी लड़कियों के लिए पहली बार ओलंपिक हॉकी सेमीफाइनल। गर्व से भरा हुआ।
चक दे ​​इंडिया #हॉकी pic.twitter.com/c9I5KZFaZ5

यह भी पढ़ें:   रवि शास्त्री के कमेंट्री स्टिंट्स ने उन्हें भारत कोचिंग भूमिका के लिए दावेदार बनाया: सीएसी सदस्य

– वीरेंद्र सहवाग (@virendersehwag) 2 अगस्त 2021

हमारी लड़कियों ने इतिहास रच दिया है।
पराजित #ऑस्ट्रेलिया महिलाओं के क्वार्टर फाइनल मैच में #हॉकी पहली बार सेमी-फाइनल में अपनी जगह पक्की करने के लिए 1-0 से! सेमीफाइनल के लिए शुभकामनाएं। #टोक्यो2020 pic.twitter.com/iZj3H4GPs8

– वीवीएस लक्ष्मण (@VVSLaxman281) 2 अगस्त 2021

हम सभी ने फिल्म देखी है लेकिन यह हकीकत है! असली चक दे ​​गर्ल्स! बहुत खूब। हमारी टीम पर बहुत गर्व है। विद्युत प्रसारण में 1-0 से बार-बार प्रसारण के प्रसारण में #हॉकीइंडिया #हॉकी

– आरपी सिंह रुद्र प्रताप सिंह (@rpsingh) 2 अगस्त 2021

क्यूएफ (एसएफ)
चुटकी कोई नहीं है हम तो होश में
क़दमों को थमो यह जोश में
बाद पाँव है, या फिर पे गांव है
अब तो भई उड़ान भरी इस नाव है
टोक्यो में इतिहास !! बधाई हो भारतीय महिला टीम !! इतना गर्व #स्वर्ण पाने का प्रयास करो #टीमइंडिया #टोक्यो2020 #ओलंपिक pic.twitter.com/flzwzF2iPh

– वसीम जाफर (@ वसीम जाफर14) 2 अगस्त 2021

क्या खेल है!! महिलाओं के लिए रास्ता..✊🏾बिल्कुल सुपरस्टार#टीमइंडिया https://t.co/uG5EmQnLtY

– शिखा पांडे (@shikhashauny) 2 अगस्त 2021

यह 🇮🇳 के लिए बहुत बड़ा है !! #हॉकी #टोक्यो2020

– लिसा स्टालेकर (@ sthalekar93) 2 अगस्त 2021

अभी इसे ट्वीट करना उचित लगता है। चक दे! इंडिया #हॉकी #टोक्यो2020 pic.twitter.com/Z1g0OPpqsw

– लिसा स्टालेकर (@ sthalekar93) 2 अगस्त 2021