DA Image

कार्तिक माह आज से प्रारंभ हो गया है। इस माह में तुलसी पूजन का विशेष महत्व है। कार्तिक मास भगवान विष्णु और देवी मां लक्ष्मी की पूजा के लिए उत्तम होता है। आज राहुकाल का समय मध्याह्न 1.30 बजे से अपराह्न 3 बजे तक रहेगा। 

सूर्य दक्षिणायन। सूर्य दक्षिण गोल। शरद ऋतु। 21 अक्तूबर, गुरुवार, 29 आश्विन (सौर) शक 1943, 5 कार्त्तिक मास प्रविष्टे 2078, 14 रबी उल अव्वल सन् हिजरी 1443, कार्त्तिक कृष्णप्रतिपदा रात्रि 10.17 बजे तक उपरांत द्वितीया, अश्विनी नक्षत्र सायं 4.17 बजे तक तदनंतर भरणी नक्षत्र, वज्र योग रात्रि 9.00 बजे तक पश्चात् सिद्धि (असृक) योग, बालव करण, चंद्रमा मेष राशि में (दिन रात)।

आज का शुभ मुहूर्त 
अभिजीत मुहूर्त सुबह 11:43 से दोपहर 12:28 तक रहेगा। अमृत काल सुबह 08:25 से 10:10 तक रहेगा।