Hindustan Hindi News

उत्पन्ना एकादशी व्रत आज, इन शुभ मुहूर्तों में पूजा करने से होगा लाभ, ये रहेगा राहुकाल का समय

उत्पन्ना एकादशी व्रत सबका। वैतरणी व्रत। सूर्य दक्षिणायन। सूर्य दक्षिण गोल। हेमंत ऋतु। सायं 04 बजकर 30 मिनट से सायं 06 बजे तक राहुकालम्।

20, नवंबर, रविवार, 29, कार्तिक (सौर) शक 1944, 04, मार्गशीर्ष मास प्रविष्टे 2079, 24, रवि-उस्मानी सन् हिजरी 1444, मार्गशीर्ष कृष्ण एकादशी प्रात 10 बजकर 42 मिनट तक उपरांत द्वादशी, हस्त नक्षत्र रात्रि 12 बजकर 36 मिनट तक तदनन्तर चित्रा नक्षत्र , प्रीति योग रात्रि 11 बजकर 03 मिनट तक पश्चात आयुष्मान योग, बालव करण, चंद्रमा कन्या राशि में (दिन-रात)

सूर्य और चंद्रमा का समय
सूर्योदय – 6:39 AM
सूर्यास्त – 5:15 PM
चन्द्रोदय – Nov 21 3:39 AM
चन्द्रास्त – Nov 21 2:58 PM

आज के शुभ मुहूर्त- 

  • ब्रह्म मुहूर्त– 04:52 ए एम से 05:46 ए एम
  • अभिजित मुहूर्त– 11:36 ए एम से 12:19 पी एम
  • विजय मुहूर्त– 01:43 पी एम से 02:26 पी एम
  • गोधूलि मुहूर्त– 05:15 पी एम से 05:42 पी एम
  • अमृत काल– 06:31 पी एम से 08:08 पी एम
  • निशिता मुहूर्त– 11:31 पी एम से 12:25 ए एम, नवम्बर 21
  • द्विपुष्कर योग– 12:36 ए एम, नवम्बर 21 से 06:40 ए एम, नवम्बर 21
  • सर्वार्थ सिद्धि योग– 06:39 ए एम से 12:36 ए एम, नवम्बर 21
  • अमृत सिद्धि योग– 06:39 ए एम से 12:36 ए एम, नवम्बर 21

Aaj Ka Rashifal : इन 5 राशियों का जागेगा सोया हुआ भाग्य, धन- लाभ के प्रबल योग, पढ़ें आज का भविष्यफल

यह भी पढ़ें:   Today Panchang 24 January 2022: आज सोमवार को भगवान शिव की इन शुभ मुहूर्त में करें पूजा, देखिए शुभ पंचांग

आज के अशुभ मुहूर्त- 

  • राहुकाल- 03:56 पी एम से 05:15 पी एम
  • यमगण्ड- 11:57 ए एम से 01:17 पी एम
  • गुलिक काल– 02:36 पी एम से 03:56 पी एम
  • दुर्मुहूर्त– 03:51 पी एम से 04:33 पी एम
  • वर्ज्य– 08:46 ए एम से 10:23 ए एम