DA Image

आज शनि प्रदोष व्रत है। शनिवार को पड़ने वाले प्रदोष व्रत को शनि प्रदोष व्रत कहा जाता है। प्रदोष व्रत में भगवान शंकर और माता पार्वती की पूजा की जाती है। 

आज राहुकाल का समय प्रात: 9 बजे से प्रात: 10 बज कर 30 मिनट तक रहेगा। 

सूर्य दक्षिणायण। सूर्य उत्तर गोल। शरद ऋतु। 4 सितंबर 2021, शनिवार, 13 भाद्रपद (सौर) शक 1943, 20 भाद्रपद मास प्रविष्टे 2078, 25 मुहर्रम सन् हिजरी 1443, भाद्रपद कृष्णद्वादशी प्रात: 8 बज कर 25 मिनट तक उपरांत त्रयोदशी। 

अभिजीत मुहूर्त – दोपहर 12:01 से दोपहर 12:50
अमृत काल – सुबह 11:04 से दोपहर 12:44
ब्रह्म मुहूर्त – सुबह 04:37 से सुबह 05:25

पुष्य नक्षत्र सायं 5 बज कर 45 मिनट तक तदनंतर आश्लेषा नक्षत्र, वरीयान योग प्रात: 9 बज कर 37 मिनट तक पश्चात् परिघ योग। तैतिल करण। चंद्रमा कर्क राशि में (दिन-रात)।    
    
पं. वेणीमाधव गोस्वामी