DA Image

आज पितृ पक्ष 2021 का आखिरी दिन है। इसे सर्व पितृ अमावस्या भी कहा जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, आश्विन कृष्ण पक्ष अमावस्या, आनन्द संवत्सर विक्रम संवत 2078, शक संवत 1943 (प्लव संवत्सर), भाद्रपद। अमावस्या तिथि शाम 04 बजकर 35 मिनट तक उपरांत प्रतिपदा। नक्षत्र हस्त रात 11 बजकर 20 मिनट तक उपरांत चित्रा। ब्रह्म योग सुबह 08 बजकर 32 मिनट तक, उसके बाद इन्द्र योग सुबह 05 बजकर 12 मिनट तक, उसके बाद वैधृति योग। करण नाग शाम 04 बजकर 35 मिनट तक, बाद किस्तुघन सुबह 03 बजकर 13 मिनट तक, बाद बव। चन्द्रमा कन्या राशि पर संचार करेगा।

त्योहार और व्रत-

अमावस्या

सूर्य और चंद्रमा का समय-

सूर्योदय – 6:20 AM
सूर्यास्त – 5:57 PM
चन्द्रोदय – Oct 06 5:51 AM
चन्द्रास्त – Oct 06 6:13 PM

आज के शुभ मुहूर्त-

ब्रह्म मुहूर्त- सुबह 04 बजकर 39 मिनट से 05 बजकर 28 मिनट तक। 
विजय मुहूर्त- दोपहर 02 बजकर 06 मिनट से 02 बजकर 53 मिनट तक। 
निशिथ काल- मध्‍यरात्रि 11 बजकर 45 मिनट से 12 बजकर 34 मिनट तक। 
गोधूलि बेला- शाम 05 बजकर 50 मिनट से 06 बजकर 14 मिनट तक। 
अमृत काल- शाम 05 बजकर 47 मिनट से 07 बजकर 16 मिनट तक। 
सर्वार्थ सिद्धि योग- सुबह 06 बजकर 17 मिनट से मध्य रात्रि 11 बजकर 20 मिनट तक।

आज के अशुभ मुहूर्त-

राहुकाल- दोपहर 12 बजे से 01 बजकर 30 मिनट तक। 
यमगंड- सुबह 07 बजकर 30 मिनट से 09 बजे तक। 
गुलिक काल- सुबह 10 बजकर 30 मिनट से 12 बजे तक। 
दुर्मुहूर्त काल- दोपहर 11 बजकर 45 मिनट से 12 बजकर 32 मिनट तक।