Hindustan Hindi News

Today Panchang 4 नवंबर: प्रबोधिनी या देवउठनी एकादशी आज, शुभ पंचांग से जानें राहुकाल व शुभ मुहूर्त

पंचक चालू है। प्रबोधिनी एकादशी व्रत सबका। देवोत्थनी एकादशी। तुलसी विवाहरंभ। चातुर्मास्य व्रत, यम, नियमादि समाप्त। हरिवासर का अभाव है। सूर्य दक्षिणायन। सूर्य दक्षिण गोल। शरद् ऋतु। प्रात 10.30 मिनट से मध्याह्न 12 बजे तक राहुकालम्। 04 नवंबर, शुक्रवार, 13 कार्तिक (सौर) शक 1944, 18 कार्तिक मास प्रविष्टे 2079, 08, रवि उस्सानी सन् हिजरी 1444, कार्तिक शुक्ल एकादशी सायं 06.09 बजे तक उपरांत द्वादशी पूर्वा भाद्रपदा नक्षत्र रात्रि 12.12 बजे तक तदनंतर उत्तराभाद्रपदा नक्षत्र व्याघात योग रात्रि 03.15 मिनट तक पश्चात हर्षण योग, वणिज करण, चंद्रमा सायं 06.20 बजे तक कुंभ राशि में उपरांत मीन राशि में।

त्यौहार और व्रत
प्रबोधिनी एकादशी

सूर्य और चंद्रमा का समय
सूर्योदय – 6:37 AM
सूर्यास्त – 5:43 PM
चन्द्रोदय – Nov 04 3:23 PM
चन्द्रास्त – Nov 05 3:27 AM

आज के अशुभ काल
राहू – 10:47 AM – 12:10 PM
यम गण्ड – 2:56 PM – 4:20 PM
कुलिक – 8:00 AM – 9:23 AM
दुर्मुहूर्त – 08:50 AM – 09:35 AM, 12:32 PM – 01:16 PM
वर्ज्यम् – 09:42 AM – 11:17 AM

यह भी पढ़ें:   देव दिवाली के रूप में मनाया जाता है यह पर्व, दीपदान से मिलता है आशीर्वाद

आज के शुभ काल
अभिजीत मुहूर्त – 11:48 AM – 12:32 PM
अमृत काल – 04:24 PM – 05:58 PM
ब्रह्म मुहूर्त – 05:01 AM – 05:49 AM